Rakesh Mohan Nautiyal

1
34
Prachi

लेखक, शिक्षक एवं कवि राकेश मोहन नौटियाल जी की दो पुस्तकें प्रकाशित हो चुकीं है और आप कई साझा पुस्तकों में सक्रिय सहभागी रचनाकार रह चुकें है। राकेश जी हिन्दी साहित्य के क्षेत्र में सक्रिय भूमिका में रहते हैं। लेखक को साहित्य के क्षेत्र में अमूल्य साहित्यिक योगदान के लिए अब तक कई सम्मान प्राप्त हो चुकें है। राकेश मोहन नौटियाल जी असिस्टेंट प्रोफेसर (इतिहास विभाग) के पद पर कार्यरत हैं।

पिता का नाम : स्व० श्री रतन मणि नौटियाल

माता का नाम : श्रीमती कमलेश्वरी देवी

शैक्षिक योग्यता : एम.ए. (इतिहास), पी. एचडी. (इतिहास), डिप्लोमा इन आर्काइवल स्टडडिज (संस्कृति मंत्रालय भारत सरकार)

सम्प्रति : असिस्टेंट प्रोफेसर, इतिहास विभाग, वीर शहीद केसरी चंद राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय, डाकपत्थर, देहरादून, उत्तराखंड

सह सम्पादक : ॐ तरंग मासिक पत्रिका (देहरादून), सर्व भाषा पत्रिका (गढ़वाली का सह सम्पादक)

उपलब्धियाँ : 30 शोध पत्र, और 40 से अधिक आलेख प्रकशित, हिंदी और गढ़वाली में कवितायें और कहानी प्रकाशित

प्रकाशित पुस्तकें

  1. तुम मेरी जगह होते (काव्य संकलन)
  2. अनामिका (साझा काव्य संकलन)
  3. पौराणिक उत्तराखंड
prachi

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here