Shahana Parveen

1
83
Prachi

शाहाना परवीन जी का एक काव्य संकलन प्रकाशित हो चुका है और आप कई साझा संकलनों में भी प्रतिभाग कर चुकीं है। शाहाना परवीन जी कविता, कहानी, लघु कथा, लेख और आलेख आदि विद्याओं में लेखन करतीं है। शाहाना जी को उनके उत्कृष्ट साहित्यिक सृजन के लिए कई साहित्यिक संस्थानों द्वारा सम्मानित किया जा चुका हैं।

पिता : स्वर्गीय श्री यूसुफ अली जी

माता : श्रीमती शमीम आरा

शैक्षिक योग्यता : बी०ए० (ऑनर्स), एम०ए० अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) अलीगढ़, एन.टी.टी. (नर्सरी टीचर ट्रेनिंग) कोर्स हरियाणा, सह पाठ्यक्रम गतिविधियाँ : एन.एस.एस. (राष्ट्रीय सेवा योजना) एएमयू अलीगढ़।

लेखन शैलियाँ : कविता, कहानी, लघु कथा, लेख, आलेख आदि लिखना और एंकरिंग करना।

साझा संग्रह : बाल काव्य, बज़्मे हिंद ऐतिहासिक पुस्तक, स्वरांजलि, कथाद्वीप, आखर कुंज, नव-किरण, नव सृजन, काव्य सृष्टि, हे भारत भूमि, रत्नावली, उन्मुक्त परिंदे (प्रकाशनाधीन), शब्दों के पथिक।

प्राप्त सम्मान : श्रेष्ठ रचनाकार सम्मान, स्वामी विवेकानंद साहित्य सम्मान, उत्कृष्ट काव्य सृजन सम्मान, काव्य स्वरांजलि सम्मान, कथा गौरव सम्मान, सावरकर सम्मान, श्रेष्ठ सृजन सम्मान, हरिवंश राय बच्चन सम्मान, सहभागिता सृजन सम्मान, हिंदी साहित्य साधक सम्मान, काव्य सृष्टि साहित्य सम्मान, नव-किरण साहित्य सम्मान, लेखन आगाज सम्मान, काव्य सृजन सम्मान, श्रीमती फूलवती देवी साहित्य सम्मान।

प्रकाशित कृतियाँ

prachi
Subscribe
Notify of
guest
1 Comment
Inline Feedbacks
View all comments
Khem singh
Khem singh
August 17, 2020 10:43 AM

बहुत बहुत शानदार